उत्तर-प्रदेशनई दिल्लीबड़ी खबरलखनऊ

टीएसएच में एक साल में ईडब्लूएस के कुल 980 बच्चों ने लिया प्रशिक्षण

ईडब्लूएस बच्चों के लिये एक जुलाई से शुरू हो रहा नया सत्र

कानपुर: प्रतिभा किसी परवरिश, अमीरी या गरीबी की मोहताज नहीं होती है, उसे तो बस एक मौका चाहिए अपना हुनर दिखाने का। शहर के अल्प आय वर्ग (ईडब्लूएस) के बच्चों को यह मौका दिया है कानपुर नगर निगम, खेलो इंडिया और फिट इंडिया के सहयोग से आर्यनगर में संचालित द स्पोर्ट्स हब (टीएसएच) ने। जिसमें प्रशिक्षण प्राप्त करके गरीब परिवारों के बच्चों ने अपनी प्रतिभा दिखाते हुए अलग-अलग प्रतियोगिता में पदकों की झड़ी लगाई है।

ईडब्लूएस बच्चों के लिये एक जुलाई से शुरू हो रहा नया सत्र

Lद स्पोर्ट्स हब (टीएसएच) में आगामी एक जुलाई से शुरू होने वाले नये प्रशिक्षण सत्र के लिये शनिवार को टीएसएच में पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। प्रेसवार्ता को अपर नगर आयुक्त जगदीश यादव, टीएसएच के डायरेक्टर आपरेशंस पीके श्रीवास्तव, आडी स्टेडिया प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव गर्ग ने संबोधित करते हुए कहा कि विगत प्रशिक्षण सत्र में ईडब्लूएस के बच्चों ने उच्च कोटी का प्रशिक्षण प्राप्त करके अपनी खेल प्रतिभा को निखारा और अलग-अलग प्रतियोगिता में पदक हासिल करके शहर का नाम रोशन किया।

एक साल में यह रहा प्रदर्शन
ईडब्लूएस के 980 बच्चों ने एक साल में टीएसएच में प्रशिक्षण प्राप्त किया। जिसमें से बैडमिंटन में डिस्ट्रिक्ट लेवल पर चार गोल्ड, सात ब्रांज। जूडो में डिस्ट्रिक्ट लेवल पर तीन गोल्ड, चार सिल्वर, तीन ब्रांज, नेशनल लेवल पर एक सिल्वर मेडल प्राप्त किया। कराटे में डिस्ट्रिक्ट लेवल पर एक गोल्ड, एक सिल्वर,दो ब्रांज, स्टेट लेवल पर एक गोल्ड, एक ब्रांज, नेशनल लेवल पर एक गोल्ड। डिस्ट्रिक्ट लेवल पर टेबल टेनिस में दो सिल्वर,एक ब्रांज, स्टेट लेवल में एक सिल्वर। ताइक्वाडो में डिस्ट्रिक्ट लेवल पर तीन गोल्ड, एक ब्रांज, नेशनल लेवल पर एक ब्रांज, स्टेट लेवल पर एक गोल्ड, दो सिल्वर, दो ब्रांज मेडल प्राप्त किया। इस तरह से कुल 14 गोल्ड, 11 सिल्वर, 18 ब्रांज मेडल खिलाड़ियों ने टीएसएच में प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरांत अपने श्रेष्ठ प्रदर्शन के आधार पर प्राप्त किये।
इतने सारे मेडल आना भी अपने आप में कीर्तिमान है।

अंतराष्ट्रीय खिलाड़ियों का मार्गदर्शन भी
निशुल्क प्रशिक्षण के साथ ही अंतराष्ट्रीय खिलाड़ियों द्वारा टीएसएच के खिलाड़ियों और कोचों को समय-समय पर मार्गदर्शन देने के लिये बैडमिंटन के पूर्व भारतीय खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद और राइफल निशानेबाज खिलाड़ी गगन नारंग भी मार्गदर्शन देने के लिये उपलब्ध रहते हैं। ताकि खेल और खिलाड़ियों को वर्तमान परिदृश्य के अनुसार अपडेट रखा जा सके।
एनआईएस मान्यता प्राप्त कोच
द स्पोर्ट्स हब (टीएसएच) में जूडो, कराटे, ताइक्वांडो, बाक्सिंग, कबड्डी, शूटिंग, स्विमिंग, बास्केटबाल, टेबल टेनिस, बैडमिंटन जैसे खेलों का प्रशिक्षण ईडब्लूएस के बच्चों के लिये निशुल्क उपलब्ध है। तीन माह तक चलने वाले इस प्रशिक्षण में एनआईएस मान्यता प्राप्त कोचों द्वारा सभी खेलों का प्रशिक्षण दिया जाता है। द स्पोर्ट्स हब (टीएसएच) में सभी प्रकार के खेल एक ही छत के नीचे उपलब्ध हैं। सभी प्रकार के खेलों के लिये आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर विश्वस्तरीय मानकों और आधुनिक सुविधा से लैस है।

20 जून से ट्रायल
एक जुलाई से शुरू होने वाले द स्पोर्ट्स हब (टीएसएच) में 15 जून तक प्रवेश फार्म का वितरण करने के बाद रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। इसके बाद सभी खेलों के लिये आगामी 20 जून से ट्रायल की प्रक्रिया शुरू होगी। प्रवेश फार्म वितरण से लेकर प्रशिक्षण तक कोई भी शुल्क बच्चों से नहीं लिया जाता और उच्चकोटि का प्रशिक्षण देकर उनकी प्रतिभा को निखारा जाता है।

Cherish Times

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button