उत्तर-प्रदेश

भारत की मिली-जुली संस्कृति राष्ट्रीय चरित्र की सर्वश्रेष्ठता : प्रमोद तिवारी

प्रतापगढ़। पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने सोमवार को कहा कि भारत की मिली-जुली संस्कृति दुनिया में भारत को ज्ञान के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ होने का दर्जा दे रखा है। उन्होनें कहा कि होली का पर्व ही भारतीय संस्कृति के इसी समन्वय व समरस भाव को परम्परागत मजबूत आयाम देती आ रही है।

रामपुर खास में लगातार चार दिवसीय विविध कार्यक्रमों के दौरान रविवार को सांगीपुर के गांधी इण्टर कालेज में ब्लाक कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित होली मिलन समारोह को बतौर मुख्यअतिथि सम्बोधित करते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि जब तक देश में गंगा जमुनी संस्कृति की विचारधारा मजबूती के साथ आगे बढ़ती रहेगी, हिन्दुस्तान की तरफ कोई भी सिरफिरी ताकत आंख उठा कर नहीं देख सकती। उन्होनें कहा कि होली देश व समाज के लिए हर आवश्यकता पर मेल-जोल के साथ एकजुटता की शक्ति का संवर्धन करती है।

क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना की भी ओर से लोगों को होली की मंगलकामनाएं सौंपते प्रमोद तिवारी ने कहा कि रामपुर खास इसी मेलजोल की राष्ट्रीय संस्कृति को ताकतवर बनाए रखने का शानदार गौरव रखता है। कहा कि वह तथा विधायक मोना यहां प्यार और मोहब्बत के साथ निर्माण के क्षेत्र में सदैव इस क्षेत्र को अग्रणी बनाये रखेंगे। समारोह की अध्यक्षता ब्लाक प्रमुख अशोक सिंह बब्लू व संचालन शिक्षक नेता रामबोध शुक्ल ने किया। बाबा घुइसरनाथ धाम मे पहुंचकर प्रमोद तिवारी ने लोक मंगल की कामना की।

Cherish Times

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button