उत्तर-प्रदेश

भविष्य में बिजली खपत को देखते हुए कार्य योजना तैयार हो: योगी

  • निर्बाध बिजली आपूर्ति के संबंध में मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की जनता को बिजली की कमी से निजात दिलाने के लिए योगी सरकार ठोस रणनीति पर कार्य करने की योजना बना रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को यहां उच्चाधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि ऊर्जा क्षेत्र में व्यापक सुधार की आवश्यकता है। भविष्य में बिजली खपत को देखते हुए कार्य योजना तैयार कर उस पर काम किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी 75 जिलों में रोस्टर के अनुरूप निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद मिल रही है। खदानों से पॉवर प्लांट तक कोयले की ढुलाई के लिए रेल के साथ-साथ सड़क मार्ग का प्रयोग भी किया जाना चाहिए। ऊर्जा क्षेत्र में सुधार की व्यापक आवश्यकता है। भविष्य की ऊर्जा जरूरतों के दृष्टिगत कार्ययोजना तैयार की जाए। विभागीय मंत्री के स्तर पर विभाग की कार्यप्रणाली की गहन समीक्षा करते हुए हर स्तर पर व्यापक बदलाव के प्रयास किए जाएं।

बिजली बिल के समयबद्ध भुगतान के लिए उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। इसके लिए यह जरूरी है कि लोगों को सही बिल मिले और समय पर मिले। ओवरबिलिंग, फाल्स बिलिंग अथवा विलंब से बिल दिया जाना उपभोक्ता को परेशान करती है।

इस व्यवस्था में सुधार के लिए बिलिंग और कलेक्शन एफिशिएंसी बढ़ाने के लिए ऊर्जा विभाग को ठोस कार्ययोजना बनानी होगी। ग्रामीण इलाकों में विशेष प्रयास की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली बिल बकाए के भुगतान के लिए एकमुश्त समाधान योजना लाई जाए। योजना ऐसी हो, जिसमें लोगों को बकाए पर ब्याज से छूट मिले, क़िस्त में भुगतान की सुविधा हो। इस संबंध में यथाशीघ्र कार्यवाही अपेक्षित है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button